Tag: Plastic pollution essay in hindi

प्लास्टिक को ना कहो; ‘Plastic ko na kaho’

प्लास्टिक ने कुछ समय के लिए तो मानव के कामों को आरामदायक बना दिया है। लेकिन, वास्तविक समस्या तब शुरू होती है जब इसका उपयोग समय समाप्त हो जाता है, अर्थात, प्लास्टिक से बने सामानों के अपशिष्ट पदार्थों से छुटकारा पाने की समस्या |