गर्मी की छुट्टियाँ निबंध

गर्मी की छुट्टी पर बड़े तथा छोटे निबंध (Long and Short Essay on Summer Vacation in Hindi)

Essay Topics Covered: Summer Vacations Hindi Essay, गर्मी की छुट्टियों में किये जाने वाले काम, गर्मी से बचने के लिए सावधानियां, छुट्टियों में होमवर्क देने का कारण, गर्मियों की छुट्टी पर निबंध 10 लाइन

आसान शब्दों में गर्मी की छुट्टी पर हिंदी में निबंध लिखो

भारत में गर्मी की छुट्टियाँ 

भारत इकलौता ऐसा देश है जहां पर 6 ऋतुओं का आनंद लिया जा सकता है। गर्मी का मौसम सबसे लंबा होता है। यहां मार्च से सितंबर तक के महीने में तेज गर्मी पड़ती है। मई और जून के महीने में गर्मी अपनी चरम सीमा पर होती है। कभी-कभी तो तापमान 48 डिग्री और 50 डिग्री तक को छू जाता है। इस जला देने वाली गर्मी से बचने के लिए उत्तर भारत के सभी स्कूलों में 2 महीने की गर्मी की छुट्टियां की जाती हैं। डेढ़ से 2 महीने के लिए सभी स्कूल और कॉलेज बंद रहते हैं।

गर्मी की छुट्टियां 2020

साल 2020 में बच्चे गर्मी की छुट्टी का सुख नहीं भोग पाए | इसका यह मतलब नहीं कि स्कूलों में गर्मी का अवकाश नहीं हुआ | अपितु, मार्च 2020 से ही सभी स्कूल और कॉलेज बंद हो गए थे और 15 अगस्त तक सभी विद्यार्थी गर्मी की छुटियाँ ही मनाएंगे | इतनी लम्बी अवधि(6 महीने) की छुटियाँ इतिहास में पहली बार ही हुई | क्या, आप जानते हैं कि ऐसा क्यों हुआ ? कोरोना महामारी के कारण सरकार को ऐसा कठोर फैसला लेना पड़ा | कोरोना महामारी के बारे में जानने के लिए आप कोरोना वायरस पर हिंदी में निबंध पढ़ सकते हैं

छुट्टियों का इंतज़ार

सभी विद्यार्थी और शिक्षक इन छुट्टियों का बेसब्री से इंतजार करते हैं क्योंकि यह पूरे साल में पङने वाली छुट्टियों में  सबसे लंबी होती है। सभी लोग भरपूर आराम करते हैं और छुट्टियों का आनंद उठाते हैं।  सभी ने अपने कामों की एक लंबी सूची पहले से तैयार की होती है। बहुत से मां-बाप अपने बच्चों को वातानुकूलित कमरों में ही रखना चाहते हैं ताकि वे गर्मी से बचे रहें किंतु बाहरी खेलकूद सभी उम्र के लोगों के लिए बहुत जरूरी है क्योंकि जिंदगी बेहतर है जब आप बाहरी खेल खेलते हैं।

गर्मी की छुट्टियों में किए जाने वाले कामों की सूची

शब्द अर्थ के लिए क्लिक करें

अंग्रेजी में पढ़ने के लिए क्लिक करें

मित्रों और रिश्तेदारों के घर जाना 
इन छुट्टियों में लोग अपने मित्रों और सगे संबंधियों के घर जाते हैं। भारत में विशेषकर एक रिवाज है कि विवाहित स्त्रियाँ इन छुट्टियों में बच्चों को साथ लेकर अपने जन्म देने वाले माता-पिता के घर लंबा समय व्यतीत करने जाती हैं। कुछ समय नाना- नानी के साथ बिता कर बच्चे बहुत से कपड़े, मिठाई, तोहफे और आशीर्वाद बटोर कर अपने घर वापस आ जाते हैं।

खेलकूद –

हालांकि छुट्टियों की शुरुआत में सभी लोग बहुत अधिक उत्साहित होते हैं किंतु कुछ दिन बाद ही गर्मी के लंबे दिनों से ऊब जाते हैं। इस नीरसता को दूर करने के लिए स्कूलों और विभिन्न संगठनों द्वारा ग्रीष्मकालीन शिविरों का आयोजन किया जाता है। बच्चे इन कक्षाओं में बहुत सी अतिरिक्त गतिविधियां सीख सकते हैं और रचनात्मक तरीके से अपनी छुट्टियां बिता सकते हैं।

गर्मियों की छुट्टी पर निबंध 10 लाइन

गर्मी की छुट्टियों में क्या करें :

  • गायन और नृत्य कला
  • शिल्प ड्राइंग और रंग भरना
  • अंग्रेजी बोलना और लिखना
  • मैदानी खेल खेलना
  • विदेशी भाषा सीखना
  • कंप्यूटर प्रोग्रामिंग
  • तैराकी

यह सूची इतनी लंबी है कि इसमें सभी कुछ गिना नहीं जा सकता। बहुत से लोग गर्मी से परेशान होकर या गर्मी के मौसम से बचने के लिए पहाड़ों की यात्रा करना पसंद करते हैं। आजकल तो दूसरे देशों में जाने का बहुत अधिक चलन है। लोग मई और जून के महीने के लिए पहले से अपनी यात्रा की पूरी तैयारी कर लेते हैं।

भारत के प्रसिद्ध हिल स्टेशन के नाम

  • कश्मीर
  • कुल्लू और मनाली
  • ऊटी और कोडीकनाल
  • मसूरी और नैनीताल
  • पंचमढ़ी और माउंट आबू इत्यादि।

गृहकार्य दिए जाने का कारण

बच्चों को छुट्टियों के दौरान बहुत सारे गृह कार्य भी दिए जाते हैं ताकि 2 महीने की छुट्टियों में भी वे पढ़ाई के संपर्क में रहें और स्कूल और पढ़ाई को पूरी तरह से ना भूलें। यह होमवर्क स्कूल के सिलेबस से कुछ अलग पाठ्यक्रम का होता है तो इस काम को पूरा करने के लिए आजकल गूगल और यूट्यूब का बड़े पैमाने पर उपयोग किया जाता है। होमवर्क देने के पीछे मुख्य उद्देश्य बच्चों को उनके शैक्षणिक पाठ्यक्रम के बाहर के क्षेत्रों की तरफ मोड़ना है। होमवर्क के रूप में बच्चों को अपने पाठ्यक्रम से अलग बहुत सारी चीजें सीखने का मौका मिलता है।

छुट्टियों में माता पिता का कर्त्तव्य

इसलिए माता पिता का यह नैतिक कर्तव्य है कि वे अपने बच्चों को सिर्फ नकल करके लिखने की बजाय अवधारणाओं को समझने के लिए प्रोत्साहित करें। छुट्टियों में बच्चों को म्यूजियम, चिड़ियाघर, विभिन्न फल और फूलों के बगीचे, खेत-खलिहान इत्यादि दिखाने चाहिए, जिससे कि बच्चों के ज्ञान में वृद्धि हो सके | यद्यपि, पारा अत्यधिक होने के कारण बाहर बहुत अधिक गर्मी होती है किंतु एक बार मन में ठान लिया जाए तो हम आग उगलते सूरज को भी हरा सकते हैं।

गर्मी से बचने के आसान उपाय

  • आइये जानते हैं कि गर्मी से कैसे बचा जा सकता है
  • अधिक से अधिक सादा पानी पियें |
  • दिन में ३-४ बार शीतल जल से मुहँ धोने से ताज़गी महसूस होती है |
  • अपने शरीर और दिमाग को ठंडा रखने के लिए ठंडे फल जैसे कि तरबूज, खरबूजा, आम, ककड़ी, लीची जैसे फल खाने चाहिए।
  • ठंडे पेय पदार्थ जैसे की लस्सी, नींबू पानी, सत्तू,, आइसक्रीम, कुल्फी आदि का आनंद लिया जा सकता है।
  • ज़्यादा तला हुआ और मसालेदार भोजन न खाएं, इससे पेट में गर्मी हो सकती है |
  • हल्के रंग के सूती कपड़े पहनें; ये आपके शरीर से निकलने वाले पसीने को सोख लेते हैं |
  • धूप में निकलते समय छाते का उपयोग करें।
  • टोपी और पगड़ी पहनना हमारे दिमाग को गर्म होने से बचाता है।मुझे लगता है पूरी दुनिया में विभिन्न धर्मों में सिर को ढकने की परंपरा इसी वजह से आई है ताकि सूरज की तेज किरणों से होने वाले नुकसान से हम अपने शरीर को बचा सकें।
  • आजकल के युवा धूप में निकलने से पहले सनस्क्रीन लोशन जरूर लगाते हैं।
  • धूप से बचाने वाला चश्मा पहनना कुछ लोगों के लिए फैशन हो सकता है और कुछ के लिए जरूरत, क्योंकि उद्योगपतियों और ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारियों को गर्मी से कोई राहत नहीं है। उन्हें कोई गर्मी की छुट्टियां नहीं मिलती उन्हें तो काम पर जाना ही होता है वह धधकते सूरज के बावजूद भी अपनी सामान्य दिनचर्या के काम को जारी रखते हैं|

शब्द-अर्थ

शब्द अर्थ
इकलौता एक, अकेला
चरम सीमा आख़िरी हद ,  अत्यधिक
वातानुकूलित तापमान को नियंत्रित स्थिति में रखना
रचनात्मक   समाज की उन्नति में सहायक होने वाला।
शैक्षणिक शिक्षा से संबंधित
पेय पदार्थ पीने की वस्तु, तरल पदार्थ

अगर आप का बच्चा पढ़ने का शौक रखता है तो उसे किंडल (Kindle) दिलाएं | इसे अप एक चलती-फिरती लाइब्रेरी कह सकते हैं| पढ़ने वाले बच्चे ही exam में अच्छा लिखकर आते हैं| महंगे smart phone से कुछ पैसा बचाकर अमेज़न किंडल (Kindle) पर लगायें और अपने बच्चों का भविष्य उज्जवल बनायें|

Reading is the Guide to Writing
Free Audible Audiobooks
 Books That SPEAK to You

Leave a Reply