मेरे जीवन का उद्देश्य और मेरे प्रयास- Essay on My Ambition in Life in Hindi

मेरे जीवन का उद्देश्य एक ब्लॉगर बनना था | आपके जीवन का लक्ष्य क्या है? यह निबंध मेरा लक्ष्य और मेरे प्रयोग के बारे में बताएगा|Write an Essay on ‘Mere Jeewan ka Uddeshya’

मेरे जीवन का लक्ष्य पर निबंध इन हिंदी

मेरे जीवन का लक्ष्य पर निबंध इन हिंदी

My Ambition in Life Essay in Hindi for Class 6-12

लक्ष्य क्या है What is Ambition in Hindi

एक निश्चित लक्ष्य ही सफलता की नींव है। लक्ष्य के बिना हमारा जीवन स्टीयरिंग के बिना एक कार की तरह है। आप बड़े होकर क्या करना चाहते हैं ? किसके जैसा बनना चाहते हैं ? वही आपके जीवन का लक्ष्य कहलाता है | पहले ज़्यादातर बच्चे डॉक्टर, इंजिनियर, या अध्यापक बनने की चाह रखते थे, किन्तु आज इन्टरनेट ने हमारे लिए बहुत से नए रास्ते खोल दिए हैं |

आज हर व्यक्ति किसी भी विषय की जानकारी की खोज के लिए गूगल का उपयोग करता है | क्या आपको मालूम है कि गूगल पर यह सारी जानकारी कहाँ से आती है ? यह जानकारी वहां पर ब्लॉगर लिखते हैं |

मेरा लक्ष्य एक सफल ब्लॉगर बनना है। एक ब्लॉगर एक ऐसा व्यक्ति है जो इंटरनेट पर मौजूद वेब पृष्ठों (web pages) पर अपना ज्ञान साझा करता है। मुझे भी लिखने का बहुत शौंक है | इसलिए एक दिन मैंने एक डोमेन नाम खरीदा और वहां लिखना शुरू किया।

आत्मविश्वास और उद्देश्य

मेरी यात्रा की शुरुआत लोकप्रिय ब्लॉगरों के प्रेरणादायक लेख पढ़ने से ही संभव हो पायी ।मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि मुझे पहले क्या लिखना चाहिए। जल्द ही मैं होली त्योहार पर अपना पहला निबंध लिख रही थी। क्योंकि होली नज़दीक आ रही थी और शहर में सब जगह होली की ही चर्चा थी । अपना लेख पूरा करने के बाद, मुझे अपने भीतर की प्रतिभा का एहसास हुआ। अब, लेखन सम्बन्धी हिचकिचाहट गायब हो चुकी थी |

मेरे जीवन का लक्ष्य एक ब्लॉगर बनना था | जिसके लिए मैं प्रयासरत हूँ | आप क्या बनना चाहते हैं ? कमेंट बॉक्स में लिखकर बताइए |

मैंने नए और ज़रूरतमंद विषयों के बारे में अधिक पढ़ना शुरू किया। मैंने ऑनलाइन उपलब्ध कुछ पाठ्यक्रमों के लिए अपना पंजीकरण कराया। मुझे हर गुजरते दिन के साथ ब्लॉगिंग और डिजिटल मार्केटिंग के बारे में नई अवधारणाएँ (concepts) सीखने को मिलीं। जब मैंने अपनी वेबसाइट पर बहुत सी सामग्री का आविष्कार कर लिया था, तब इसे लोगों के साथ साझा करने का समय था। मैंने वेबसाइट पर ट्रैफ़िक बढ़ाने के लिए गूगल और यू ट्यूब पर खोज शुरू की।

सफलता की उम्मीद

3 महीने बाद मेरा लिखा हुआ पहला आर्टिकल गूगल के पहले पेज पर रैंक हो गया था | उस निबंध का नाम था – प्लास्टिक को ना कहो; ‘Plastic ko na kaho’ | पहले स्थान पर आने से मुझे बहुत ख़ुशी हो रही थी | इस घटना से सफलता की एक नयी उम्मीद जागी | अब मुझे यकीन होने लगा था कि मैंने अपने लिए सही लक्ष्य का चुनाव किया है और मुझे सफलता अवश्य मिलेगी |

मान्यता प्राप्त करने के लिए मैं क्वोरा (Quora) में शामिल हो गयी, जहाँ मुझ पर प्रश्नों के साथ बमबारी की गई। मुझे अपनी शिक्षा और अनुभव को सदस्यों के साथ साझा करने की आवश्यकता महसूस हुई। मैंने अपनी बुद्धिमत्ता से बहुत से लोगों की मदद की और उनका विश्वास जीत लिया।

जब हमारे ज्ञान से किसी को मदद मिलती है तो एक अनोखी खुशी और संतुष्टि का अनुभव होता है। जैसा कि अब जीवन में मेरा उद्देश्य अब मेरी आंखों के सामने स्पष्ट है । मुझे इसे हासिल करने से कोई नहीं रोक सकता। मुझे उम्मीद है कि मुझे सफलता ज़रूर मिलेगी ।

आपको यह निबंध ‘मेरे जीवन का उद्देश्य’ कैसा लगा? कमेंट बॉक्स में लिखकर बताइए |

मेरे जीवन का लक्ष्य निबंध पर ‘शब्द-अर्थ’ पढ़ें

शब्द अर्थ
उद्देश्य लक्ष्य, मकसद, निशाना, Target
नीवं बुनियाद, आधार, foundation, Base
स्टीयरिंगकार की दिशा बदलने वाला हैंडल
वेब पृष्ठोंइन्टरनेट पर लिखा कोई पेज
डोमेन Domain name, एक वेबसाइट का नाम
पंजीकरणकिसी चीज को आधिकारिक रूप से रिकार्ड करने की विधि
बुद्धिमत्तासमझदारी

Leave a Reply