लॉकडाउन के फायदे और नुकसान पर निबंध

इस आर्टिकल में आप जानेंगे कि लॉक डाउन क्या है? क्या लॉकडाउन का पर्यावरण पर प्रभाव पड़ा? लॉक डाउन के फायदे और नुकसान पर निबंध के द्वारा आप समझ जायेंगे कि तालाबंदी क्यों की जाती है |

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए अधिकतर देशों में लॉकडाउन है |पर ज़्यादातर लोग इस बात से अनजान हैं कि लॉक डाउन क्या है और इसमें किन कामों को करने की रोक लगाईं जाती है

लॉकडाउन क्या है? WHAT IS LOCKDOWN IN HINDI?

जब किसी महामारी के फैलने की वजह से लोगों के घर से बाहर निकलने पर पूर्णतया रोक लगा दी जाती है, तो उसे लॉक-डाउन (lockdown) कहा जाता है | 24 मार्च 2020 को कोरोनावायरस के द्वारा फैली बीमारी कोविड-19 के कारण पूरे भारत में तालाबंदी कर दी गई | अचानक से सभी काम रोक देने पड़े | चूंकि, यह मौका देश के लोगों के सामने पहली बार आया है, इसलिए इसके बारे में जानना बहुत जरूरी है|यह भारत में लगभग तीन महीने तक चला |

लोग लॉक डाउन को कर्फ्यू समझकर घबरा रहे थे |लॉकडाउन का अर्थ है तालाबंदी|लॉकडाउन एक आपातकालीन (emergency) व्यवस्था है जो किसी आपदा या महामारी के समय लागू की जाती है|ताकि संक्रमण अधिक ना फ़ैल पाए और जनता की जान बचाई जा सके | जिस इलाके में लॉकडाउन लगाया गया है उस क्षेत्र के लोगों को घरों से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती है| उन्हें सिर्फ अति आवश्यक वस्तुएं (essential commodities); दवाई और खाने-पीने जैसी जरूरी चीजों की खरीदारी के लिए ही बाहर आने की छूट मिलती है|

आप पढ़ रहे है लॉकडाउन पर निबन्ध

लॉक डाउन के दौरान सभी स्कूल, कॉलेज, प्राइवेट ऑफिस, क्लिनिक इत्यादि बंद करने पड़ते हैं | केवल उन्ही उद्यम या दुकानों को खोलने की अनुमति सरकार देती है जो अत्यावाश्यक वस्तुओं की श्रेणी में आते हैं | इनमे दाल,चावल बेचने वाली किरयाने की दुकानें, दूध और ब्रेड, दवाई की दुकान, कुछ सरकारी दफ्तर शामिल है |लोगों को पैसे की दिक्कत न हो इसलिए कुछ बैंकों को भी खुला रखा जाता है |

लॉक डाउन का अर्थ है कि आप बिना ज़रुरत के सड़कों पर नहीं निकल सकते क्योंकि कोरोना वायरस एक संक्रामक बीमारी है| जो बीमारी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलती है उसे संक्रामक बीमारी कहा जाता है|जब लोग आपस में मिलना जुलना बंद या कम कर देते हैं तो बीमारी को काबू में रखना आसान हो जाता है |

जब अचानक से तालाबंदी हो जाती है तो जो व्यक्ति जहाँ होता है उसे लॉक डाउन हटने तक वहीं रहना पड़ेगा |मान लीजिये आप भारत देश में दिल्ली शहर के रहने वाले है, और आप किसी काम से २ दिन के लिए दिल्ली से बाहर; पंजाब गए थे |अचानक से लॉक डाउन कर दिया गया, तो इसके हटने तक आपको पंजाब में ही रहना पड़ेगा |

अगर लॉकडाउन की वजह से किसी तरह की परेशानी हो तो आप नजदीकी पुलिस थाने, जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक या अन्य उच्च अधिकारी को फोन कर सकते हैं| लॉकडाउन जनता की सहूलियत और सुरक्षा के लिए ही किया जाता है|

पूरा विश्व इस वायरस से लड़ने के लिए अपने-अपने घरों में कैद था ताकि लोग अपनी जान बचा सकें| यह भयंकर महामारी लाखों लोगों की जान ले चुकी थी |इस वायरल इन्फेक्शन को ख़त्म करने की कोई दवा नहीं है और वैक्सीन भी अभी तक नहीं बन पायी है |इसलिए इससे बचने का एकमात्र उपाय था- सोशल डिस्टेंसिग (Social Distancing) अर्थात सामाजिक दूरी।

Read: Social Distancing Essay for Students

लॉकडाउन के फायदे

लॉक डाउन या तालाबंदी से जेल में बंद करने जैसा भाव उत्पन्न होता है | हाँ, घर की कैद में तो रहना ही पड़ता है | परन्तु कई घटनाओं से ना चाहते हुए भी बहुत से फायदे मिल जाते हैं | जैसे कि लॉक डाउन के सन्दर्भ में हुआ | शुरू में तो लोग इससे बड़े घबरा गए क्योंकि आज से पहले भारत में ऐसी घटना कभी देखने या सुनने को नहीं मिली | पर समय के बीतने के साथ आम जनता को इसमें कुछ फायदे नज़र आने लगे | आइये एक-एक कर समझते हैं –

  • तालाबंदी से ही सामजिक दूरी लायी जा सकती है |
  • लॉकडाउन से पहले सभी अपने रोजमर्रा के कामों में इतना व्यस्त रहते थे कि अपने परिवार के लिए समय ही नहीं निकाल पाते थे |लेकिन लॉकडाउन के दौरान लोगों को बेहतरीन पल और भरपूर समय मिल गया |
  • बच्चों के साथ वीडियो गेम्स, कैरम लूडो जैसे घर में बैठकर खेलने वाले खेलों का बड़ों ने आनंद लिया और लॉक डाउन का सदुपयोग किया |
  • मैंने लॉक डाउन का सदुपयोग कैसे किया ? जानने के लिए पढ़िए
  • लॉक डाउन का सदुपयोग करने में इन्टरनेट और स्मार्ट फ़ोन ने लोगों की बहुत मदद की |इस मुसीबत की घड़ी में कई ऑनलाइन शिक्षा देने वाली वेबसाइटों ने अपने पाठ्यक्रम लोगों के लिए मुफ्त कर दिए |
  • लोग यूट्यूब के माध्यम से अपने पुराने और दबे हुए शौंक पूरा करने में लग गए |खाना पकाना, नृत्य करना, सिलाई, कढ़ाई, कंप्यूटर चलाना सीखना, गाने सुनना, आदि कितने ही काम लोग लॉक डाउन की वजह से सीख गए |
  • अध्यापकों ने ऑनलाइन पढ़ाना सीखा और विद्यार्थियों ने ऑनलाइन पढ़ना सीख लिया |

लॉक डाउन का पर्यावरण पर प्रभाव

ऊपर बताये गए व्यक्तिगत फायदों के अलावा लॉक डाउन का सबसे बड़ा फायदा धरती और इसके पर्यावरण को मिला | सभी कामों पर रोक लगने से सड़कों पर वाहनों की आवा-जाहि भी बंद थी |इससे वायु प्रदूषण पर इतना सकारात्मक प्रभाव हुआ जो कि वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों की सोच से परे था | फैक्ट्रियों और वाहनों से निकलने वाले धुएँ में गिरावट आने से आसमान फिर से नीला और चमकदार दिखने लगा |

औद्योगिक इकाइयां बंद होने की वजह से नदियों में छोड़े जाने वाले कचरे की मात्रा में भी कमी आई जिसकी वजह से गंगा और यमुना जैसी नदियां इतनी साफ हो गई जैसे किसी ने कल्पना भी नहीं की थी|

वन्य प्रजातियों को साफ और शांत वातावरण पसंद होता है| इस दौरान तरह-तरह के नए पशु और पक्षियों के वार्तालाप और आवाजें सुनी गई जो कहीं ना कहीं ध्वनि प्रदूषण के कारण दब गई थी|

उनके इन फायदों को देखते हुए विभिन्न देशों के सरकारें और पर्यावरणविद् भविष्य में स्वेच्छा से कुछ दिनों के लिए लॉकडाउन किए जाने पर विचार कर रहे हैं ताकि प्रकृति अपने हुए नुकसान की मरम्मत अपने आप कर सके|

Read: Effects of Lockdown on Environment Essay

लॉकडाउन के नुकसान

लॉक डाउन कोई खुश होने वाली अवस्था नहीं है क्योंकि किसी भी देश की अर्थव्यवस्था पर इसका गहरा और नकारात्मक प्रभाव पड़ता है |कोरोना वायरस के कारन हुए लॉक डाउन ने पूरे विश्व की इकॉनमी को चौपट कर दिया | इसलिए साल 2020 को जीरो वर्ष कहा जा रहा है |

लॉकडाउन की वजह से दैनिक मजदूरी करने वाले गरीब लोगों को बड़ा नुकसान झेलना पड़ा| ताला बंदी की वजह से सब्जी, फल, और चाट-पकौड़ी बेचने वालों के पास पेट भरने का भी साधन नहीं रहा |

जो बच्चे अपने घर से दुसरे राज्यों या देशों में पढ़ने या नौकरी करने गए थे वे वहीँ पर फँस गए क्योंकि सभी देशों ने अपने बॉर्डर्स पर आने-जाने पर पूर्णतया रोक लगा दी थी |

उपसंहार: लॉकडाउन पर निबंध (Lockdown Essay in Hindi)

भले ही, लॉक डाउन से बहुत से फायदे मिले हों |पर ऐसा दृश्य जीवन में दोबारा देखने को ना ही मिले तो अच्छा है | हाँ, इस घटना से मनुष्यों को कुछ सीख ज़रूर लेनी चाहिए | जैसे कि- शाकाहारी बनें, अपने परिवार और अपने लिए समय निकालें, पैसा सा कुछ नहीं है, वातावरण सर्वोपरि है |

आशा करते है आपको लॉक डाउन पर हिंदी निबंध उपयुक्त लगा होगा |Lockdown Essay in Hindi) से आपको अपनी आने वाली परीक्षाओं में अवश्य सहायता मिलेगी | शुभकामनाएं !

Leave a Reply